जैन संस्कार पाठ्यक्रम

श्री अ.भा. साधुमार्गी जैन संघ द्वारा समाज में ज्ञान वृद्धि एवं सुसंस्कारों के विकास हेतु श्री जैन संस्कार पाठ्यक्रम परीक्षाओं का आयोजन किया जाता है। इससे संघ में जागृति आयी है। पिछले कई वर्षो में हजारों भाई-बहिनों, युवक-युवतियों, बालक-बालिकाओं ने परीक्षा में भाग लेकर ज्ञान की अभिवृद्धि की है।

संघ द्वारा संस्कार पाठ्यक्रम के प्रचार-प्रसार हेतु निःशुल्क पुस्तकों का वितरण किया जाता है। 

गत वर्ष की भांति इस वर्ष हमने जैन संस्कार पाठ्यक्रम की समय-सारिणी पूर्व में ही निर्धारित कर दी है। जिसके अनुसार एक ही दिन दि. 12 सितम्बर 2021 (रविवार) को सम्पूर्ण भागों की परीक्षाएँ सम्पन्न हुई।

परीक्षा नियम

जैन संस्कार पाठ्यक्रम परीक्षा देने वाले परीक्षार्थी को उत्तीर्ण होने के बाद अगले भाग की परीक्षा देना अनिवार्य है।
1. जैन संस्कार पाठ्यक्रम परीक्षा का एक ही भाग बार-बार देने पर परीक्षा पुरस्कार व परिणाम घोषित नहीं किया जाएगा।
2. परीक्षार्थी एक साथ दो भाग की परीक्षा दे सकता है।
3. यह परीक्षा साल में एक बार होगी।
4. 12 वर्ष से कम उम्र वाले बच्चों की ओरल (मौखिक) परीक्षा होती है।
5. सभी उत्तीर्ण परीक्षार्थियों को पुरस्कृत किया जाएगा और भाग अनुसार पूरे भारतवर्ष में टॉप करने वाले प्रथम, द्वितीय व तृतीय को विशेष पुरस्कार दिया जाएगा।
जैन संस्कार पाठ्यक्रम सामायिक स्पेशल व प्रतिक्रमण स्पेशल पुस्तकों के लिए इस नम्बर 7231933008 पर Whatapp करें।