परम पूज्य आचार्य प्रवर 1008 श्री रामलाल जी म.सा. ने जन-जन के आध्यात्मिक उत्थान हेतु पर्युषण महापर्व के दौरान 200 सरल और छोटे पचखाणों का आयाम, श्रीसंघ को प्रदान किया है।आत्मा को आनंदित, प्रफुल्लित आत्महितार्थ लोकोत्तर पर्व पर्वाधिराज पर्युषण महापर्व 14 अगस्त से 21 अगस्त 2023 को आने वाले है…..
•●●पचखाण से निर्वाण●●•
(आठ दिवसीय पर्युषण पर्व आराधना)

आप सभी पदाधिकारियों और संघ-सदस्यों से विनम्र निवेदन हैं कि सलंग्न फार्म का (पर्युषण पर्व पूर्व) उचित संख्या में Printout लेकर, इस आयाम की अपने श्रीसंघ में भव्य प्रभावना, पुरुषार्थ करें और पर्वाधिराज पर्व पर्युषण को सम्यग् ज्ञान- ध्यान – तप – त्याग के साथ मनाये।
विशेष:- 13 अगस्त से 22 अगस्त 2023 के छोटे नियम – लक्ष्य चरम की डीटीपी सर्कुलेट नहीं की जाएगी तब तक आप श्री जी पचखाण से निर्वाण के प्रत्याख्यानों को अधिक से अधिक ग्रहण कर कर्म निर्जरा का लक्ष्य रखें एवं पचखाणकर्ताओं से विनम्र निवेदन है की पचखाण फॉर्म अपने स्थानीय संघ अध्यक्ष महोदय जी (श्रीसंघ/महिला समिति/युवा संघ) को जमा करावे वहां से केन्द्रीय कार्यालय तक पहुंचा दिए जाएंगे।
सभी भवि जीवों के सम्यग् ज्ञान – दर्शन – चारित्र में अभिवृद्धि हो यही मंगलभावना भाते हैं।