परम पूज्य आचार्य गवन 1008 श्री रामलाल जी म.सा. द्वारा प्रदा आयाम ‘‘ए वन इलेवन’’ एकासन तप के आह्वान के अंतर्गत मेवाड़ अंचल में 70 एकासन हुए। कहते हैं महापुरुष का चिंतन, उनका इशारा श्रावक का मार्ग बदल देता है। ऐसा ही आह्वान आचार्य भगवन् ने ब्यावर में किया। इसमें साधुमार्गी जैन संघ, समता युवा संघ, समता महिला मंडल, समता बहुमंडल, बालक-बालिका मंडल सहित सभी ने विशेष सहय¨ग प्रदान किया।
श्री साधुमार्गी जैन समता युवा संघ, टीम द्वारा महिलाओ के लिए दिनांक 22 सितम्बर से 5 अक्टूबर तक सात दिवसीय शिविर दोपहर 2 से 3ः30 तक जैन स्थानक भवन, में आयोजित किया गया जिसका विषय कर्म बन्ध हमारा जीवन और साधु साध्वियो के गोचरी का विवेक कैसे रखें’’ था।